Tag Archives: poem kavita hindi baarish paani khushi

बारिश

Standard

Baarishजहा तुम  बारिश वहा

जहा तुम नही बारिश वहा

फर्क फ़कत इतना

एक नमी मैं उम्मीद

एक नमी मैं उदासी

जहा तुम जज़्बात वहा

जहा तुम नहीं जज़्बात वहा

फर्क फ़कत इतना

कुछ मैं ख़ुशी

कुछ मैं बारिश का पानी

जहा  तुम पदचिन्ह वहा

जहा तुम नहीं पदचिन्ह वहा

फर्क फ़कत इतना

एक तरफ सागर का किनारा

दूजी और गीली रेत बिखरी वहा

जहा तुम  इमारते वहा

जहा तुम नहीं  इमारते वहा

फर्क फ़कत इतना

एक तरफ क्षितिज

दूसरी और   टूटे खंडहर वहा

जहा तुम बारिश वहा

जहा तुम नहीं बारिश वहा